अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति: 

 
नम: श्रीकृष्णचन्द्राय परिपूर्णतमाय च ।
असंख्याण्डाधिपतये गोलोकपतये नम: ॥१॥
 
श्रीराधापतये तुभ्यं  व्रजाधीशाय ते नम: 
 नम: श्रीनन्दपुत्राय यशोदानन्दनाय च ॥२॥
 
देवकीसुत गोविन्द वासुदेव जगत्पते ।
यदूत्तम जगन्नाथ पाहि मां पुरुषोत्तम ॥३॥

वाणी सदा ते  गुणवर्णने स्यात्
कर्णौ कथायां  ममदोश्च कर्मणि ।
 
मन: सदा त्वच्चरणारविन्दयो
र्दृशौ स्फुरद्धामविशेषदर्शने ॥४॥
(गर्ग०, मथुरा० ५।९-१२ )
 
॥ इति श्रीगर्गसंहितायां मथुरा खण्डे अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति:॥
अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति:
अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति:

अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति: के लाभ

  • अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति: बहुत ही चमत्कारी पाठ है
  • अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति: करने से हर बीमारी से निजात मिलती है
  • अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति: करने से सकरात्मक ऊर्जा का वास होता है
  • इस स्तुति को करने से हर मनोकामना पूर्ण होती है
  • यह स्तुति बहुत ही शक्तिशाली है
  • यह स्तुति कृष्णा जी का ध्यान करके लिखा गया है
  • अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति:करने से कृष्णा जी प्रसन होते है

यह भी जरूर पढ़े:-


FAQ’S

  1. कृष्णा जी का दूसरा नाम क्या है?

    कृष्णा जी का दूसरा नाम घनश्याम है

  2. श्री कृष्णा जी का जन्म कितने सालो पहले हुआ था?

    श्री कृष्णा जी का जन्म पांच हज़ार साल पहले हुआ था


अक्रूर कृत श्रीकृष्ण स्तुति: PDF


Leave a comment