Shankar Mahadev ji ki Aarti | शंकर महादेव जी की आरती

Mahadev ji ki Aarti – Har Har Mahadev  हर हर हर महादेव ! सत्य, सनातन, सुन्दर, शिव सबके स्वामी। अविकारी अविनाशी, अज अन्तर्यामी॥ हर हर हर महादेव ! आदि, अनन्त, अनामय, अकल, कलाधारी। अमल, अरूप, अगोचर, अविचल, अघहारी॥   हर हर हर महादेव ! ब्रह्मा, विष्णु, महेश्वर तुम त्रिमूर्तिधारी। कर्ता, भर्ता, धर्ता, तुम ही संहारी॥ … Read more

MahaShivRatri Images || Mahashivratri Quotes in Hindi || Shiv Ratri image

 Mahashivratri Status in Hindi भोले के लीला  में मुझे डूब जाने दो, शिव के चरणों में शीश झुकाने दो,आई है शिवरात्रि मेरे भोले बाबा का दिन, आज के दिन मुझे भोले के गीत गाने दो. !! Happy Mahashivratri शिव की महिमा अपरम्पार; शिव करते सबका उद्धार; उनकी कृपा आप पर सदा बनी रहे; और आपके जीवन में आयें … Read more

Lord Shiva Quotes || Mahadev Status in Hindi || Mahakal Status

 Lord Shiva Quotes in Hindi दिल खुशी से मचल जाता हैजब महादेव का सोमवार आता है | मैं बचपन से भोले का पुजारी डमरू का मुझे जोग लगा रोया नहीं कभी शिव भक्ति मे शिव चरणों का मुझे रोग लगा | मेरे हँसते हुए चेहरे पर मुझे नाज़ है,भोले से मेरा कल और मेरा आज है | मैं … Read more

नटराज स्तुति ( शिव आनंद तांडव स्तोत्रम ) || Shree Natraj Stuti

नटराज शिव शंकर का एक नाम है इस  नाम से वह सबसे उत्तम नर्तक के रूप में जाने जाते हैं।  नटराज दो शब्दों के समावेश से बना है – नट (अर्थात कला) और राज । इस स्वरूप में शिव कालाओं के आधार हैं।  नटराज शिव का स्वरूप न सिर्फ उनके संपूर्ण काल एवं स्थान को ही दर्शाता है; … Read more

Shiva Bilvashtakam Stotram || श्री शिव बिल्वाष्टकम

 श्री शिव बिल्वाष्टकम  ” बिल्वाष्टकम् में बेल पत्र (बिल्व पत्र) के गुणों के साथ-साथ भगवान शंकर का उसके प्रति प्रेम भी बताया गया है “ त्रिदलं त्रिगुणाकारं त्रिनॆत्रं च त्रियायुधं त्रिजन्म पापसंहारम् ऎकबिल्वं शिवार्पणं त्रिशाखैः बिल्वपत्रैश्च अच्चिद्रैः कॊमलैः शुभैः तवपूजां करिष्यामि ऎकबिल्वं शिवार्पणं कॊटि कन्या महादानं तिलपर्वत कॊटयः काञ्चनं क्षीलदानॆन ऎकबिल्वं शिवार्पणं काशीक्षॆत्र निवासं च … Read more

Shiv Mantra Avankiyaan Vihitaavataran || शिव मंत्र अवन्तिकायां विहितावतारं

 अवन्तिकायां विहितावतारं मुक्तिप्रदानाय च सज्जनानाम्। अकालमृत्यो: परिरक्षणार्थं वन्दे महाकालमहासुरेशम् ॥ Avankiyaan Vihitaavataran Muktipradanaya cha Sajjanam | Akaalamrtyoh Parirakshanarthan Vande Mahakaalamahaasuresham || Read Also : Lord Shiva Powerful Mantra जो भगवान् शंकर संतजनों को मोक्ष प्रदान करने के लिए अवन्तिकापुरी उज्जैन में अवतार धारण किए हैं, अकाल मृत्यु से बचने के लिए उन देवों के भी … Read more

श्री शिव पञ्चरत्नम् स्तुति || Shiva Pancharatnam Stuti

  || Shri Shiva Pancharatnam Stuti ||  ॥ श्रीशिवपञ्चरत्नस्तुती शिवमहापुराणे ॥   श्रीकृष्ण उवाच – मत्तसिन्धुरमस्तकोपरि नृत्यमानपदाम्बुजम् । भक्तचिन्तितसिद्धिदानविचक्षणं कमलेक्षणम् । भुक्तिमुक्तिफलप्रदं भवपद्मजाऽच्युतपूजितम् । कृत्तिवाससमाश्रये मम सर्वसिद्धिदमीश्वरम् ॥ १॥ CLICK HERE TO READ : MAHASHIVRATRI KATHA वित्तदप्रियमर्चितं कृतकृच्छ्रतीव्रतपश्चरैः । मुक्तिकामिभिराश्रितैर्मुनिभिर्दृढामलभक्तिभिः । मुक्तिदं निजपादपङ्कजसक्तमानसयोगिनाम् । कृत्तिवाससमाश्रये मम सर्वसिद्धिदमीश्वरम् ॥ २॥ कृत्तदक्षमखाधिपं वरवीरभद्रगणेन वै । यक्षराक्षसमर्त्यकिन्नरदेवपन्नगवन्दितम् । रक्तभुग्गणनाथहृद्भ्रमराञ्चिताङ्घ्रिसरोरुहम् … Read more

शिव भुजंगम || Shiva Bhujangam

शिव भुजंगम || Shiva Bhujangam || Shiva Bhujanga गलद्दानगण्डं मिलद्भृङ्गषण्डं चलच्चारुशुण्डं जगत्त्राणशौण्डम् । कनद्दन्तकाण्डं  विपद्भङ्गचण्डं शिवप्रेमपिण्डं भजे वक्रतुण्डम् ॥ १ ॥ अनाद्यन्तमाद्यं परं तत्वमर्थं चिदाकारमेकं तुरीयं त्वमेयं । हरिब्रह्ममृग्यं परब्रह्मरूपं मनोवागतीतं महःशैवमीडे ॥ २ ॥ स्वशक्त्यादिशक्त्यन्तसिंहासनस्थं मनोहारिसर्वाङ्गरत्नोरुभूषं । जटाहीन्दुगंगास्थिशम्याकमौलिं पराशक्तिमित्रं नुमः पञ्चवक्त्रम् ॥ ३ ॥ शिवेशानतत्पूरुषाघोरवामादिभिः पञ्चभिर्हृन्मुखैः षड्भिरंगैः । अनौपम्यषड्त्रिंशतं तत्वविद्यामतीतं परं त्वां कथं वेत्ति … Read more

सशक्तिशिवनवकम् || Sashakti Shiva Navakam

सशक्तिशिवनवकम् || Sasakti Shiva Navakam || Sashakti Shiva Navakam वेदशास्त्रपुराणेतिहासकाव्यकलादिषु। विज्ञानं देहि मे ऐं नमः क्लीं शिवाय सौ॥१॥ चतुर्द्शासु विद्यासु चतुष्षष्टिकलासु च। चतुरां धियमाधेहि ऐं नमः क्लीं शिवाय सौ॥२॥ मीमांसायां समस्तायां शब्दशास्त्रे विशेषतः। देहि मे देव संप्राज्ञं ऐं नमः क्लीं शिवाय सौ॥३॥ गणितेषु च सर्वज्ञ देहि मे परमेश्वर। सम्यक् ज्ञानं जगन्नाथ ऐं नमः क्लीं शिवाय … Read more

शिव जयजयकार ध्यान स्तोत्रम् || Shiva Jaya JaiKara Dhyana Stotram

शिव जयजयकार ध्यान स्तोत्रम् || Shiva Jaya Jaya Kara Dhyana Stotram स्फटिकप्रतिभटकान्त विरचितकलिमलशान्त । शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ १ ॥ गंगाधरपिंगलजट हृतशरणागतसङ्कट । शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ २ ॥ बालसुधाकरशेखर भाललसद्वैश्वानर । शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ ३ ॥ पद्मदलायतलोचन दृढभवबन्धनमोचन । शिव शंकर शिव शंकर जय … Read more