किस से नज़र मिलाऊँ

किस से नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद

आँखों में ताबे दीद अब बाकी नहीं रहा
किससे नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद…
 
सारे देवतों का एहतराम भी मेरी निगाह में है
किस किस को सर झुकाऊं, तुम्हे देखने के बाद
किससे नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद…
 
है लुत्फ़ बस इसी में मज़ा इसी में है
अपना पता ना पाऊं, तुम्हे देखने के बाद
किससे नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद…
 
मेरा एक तू ही तू है दिलदार प्यारे काहना
झोली कहां फैलाऊँ, तुम्हे देखने के बाद
किससे नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद…
 
प्यारे यह प्यार तेरा महफ़िल में खींच लाया
महबूब प्यार तेरा महफ़िल में खींच लाया
दिलबर यह प्यार तेरा महफ़िल में खींच लाया
दिल की किसे सुनाऊं, तुम्हे देखने के बाद
किससे नज़र मिलाऊँ तुम्हे देखने के बाद…
 
साहिल पे रुक ना जाऊं, तुम्हे देखने के बाद
सागर में डूब जाऊं, तुम्हे देखने के बाद



 
 




Leave a Comment

0 Shares
Share
Tweet
Share
Pin