माँ धूमावती स्तुति 

विवर्णा चंचला कृष्णा दीर्घा च मलिनाम्बरा,
 
विमुक्त कुंतला  रूक्षा विधवा विरलद्विजा,
 
काकध्वजरथारूढा विलम्बित पयोधरा,
 
 
सूर्पहस्तातिरुक्षाक्षी धृतहस्ता वरान्विता,
 
प्रवृद्वघोणा तु भृशं कुटिला कुटिलेक्षणा,
 
क्षुत्पिपासार्दिता नित्यं भयदा काल्हास्पदा |
 
dhumavati stuti in hindi माँ धूमावती स्तुति
 

Leave a Comment

1 Shares
Share
Tweet
Share
Pin1