जगदम्बा जी की आरती 

 
आरती कीजै शैल – सुता की ।। टेक ।।
जगदम्बा की आरती कीजै ,
 
सनेह-सुधा, सुख सुन्दर लीजै ।
जीने नाम लेत दृर्ग भीजे,
 
ऐसी वह माता वसुधा की  ।। आरती ॰ ।।
 
पाप विनाशनी, कलि -मल-हरिणी,
दयामयी भवसागर तारिणी ।
 
शस्त्र धारिणी शैल- विहारिणी,
बुद्धि- राशि गणपति माता की  ।। आरती ॰ ।।
 
सिंहवाहिनी मातु भवानी,
गौरव- गान करें जग -प्राणी ।
 
शिव के हृदयासन की रानी,
करें आरती मिल -जुल ताकि  ।। आरती ॰ ।।
 
 
Aarti Maa Jagdamba ji ki जगदम्बा जी की आरती
जगदम्बा जी की आरती



Leave a Comment

1 Shares
Share
Tweet
Share
Pin1