durga puja

दुर्गा पूजा | Durga Puja Date

दुर्गा पूजा दुर्गा पूजा, हिंदू धर्म का प्रमुख त्योहार, पारंपरिक रूप से हिंदू कैलेंडर के सातवें महीने अश्विन (सितंबर-अक्टूबर) के महीने में 10 दिनों के …

Read more

गोवर्धन पूजा, Govardhan Puja

गोवर्धन पूजा | अन्नकूट पूजा

गोवर्धन पूजा कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रथम तिथि को होती है। गोवर्धन पूजा को अन्नकूट पूजा के नाम से भी जाना जाता है। …

Read more

गुरु गोरखनाथ गायत्री मंत्र

गुरु गोरखनाथ गायत्री मंत्र | आदेश गायत्री मंत्र

यह गोरखनाथ का गायत्री मंत्र है। किसी भी देवता के गायत्री मंत्र का जाप करने से वे शीघ्र ही प्रसन्न हो जाते हैं। यह मंत्र …

Read more

ब्रह्मा गायत्री मंत्र

ब्रह्म गायत्री मंत्र | ब्रह्मा जी का ध्यान मंत्र

ब्रह्म गायत्री मंत्र ब्रह्म गायत्री मंत्र का जाप करने से भगवान ब्रह्मा की कृपा प्राप्त होती है। ब्रह्म गायत्री मंत्र उन लोगों के लिए है …

Read more

सप्तश्लोकी दुर्गा पाठ हिंदी अर्थ सहित,saptashloki durga saptashati,

सप्तश्लोकी दुर्गा पाठ हिंदी अर्थ सहित | saptashloki durga saptashati

सप्तश्लोकी दुर्गा पाठ हिंदी अर्थ सहित ।। अथ सप्तश्लोकी दुर्गा ।।इस सप्तश्लोकी दुर्गा पाठ ( सात श्लोकों से बने ) दुर्गा सप्तशती पाठ के पहले …

Read more

नारायण स्तोत्र

नारायण स्तोत्र | Shri Narayan Stotram

नारायण स्तोत्र नारायण स्तोत्र भगवान श्री विष्णु को समर्पित पाठ है। भगवान विष्णु का अपने भक्तों के बीच एक सरल और लोकप्रिय नाम है, ‘नारायण’ …

Read more

माँ कालरात्रि देवी स्तोत्र विशेषताए

माँ कालरात्रि स्तोत्र | Kalratri Kalyani Stotra

माँ कालरात्रि स्तोत्र पाठ के लाभ माँ कालरात्रि स्तोत्र के साथ-साथ यदि कालरात्रि कवच का पाठ किया जाए तो यह स्तोत्र चमत्कारी प्रभाव दिखता है, …

Read more

श्री गणपति अष्टकम हिंदी अर्थ सहित

श्री गणपति अष्टकम हिंदी अर्थ सहित

श्री गणपति अष्टकम हिंदी अर्थ सहित एकदन्तं महाकायं तप्तकांचनसन्निभम् ।लम्बॊदरं विशालाक्षं वन्दॆऽहं गणनायकम् ॥१॥ हिंदी में अर्थ : उन भगवान को सलाम, जो गणों का …

Read more

श्री कृष्ण का जीवन परिचय | Shri Krishan katha

श्री कृष्ण का जीवन परिचय | Shri Krishan katha

श्री कृष्ण हिंदू धर्म में भगवान हैं। उन्हें विष्णु का 8वां अवतार माना जाता है। उन्हें कन्हैया, श्याम, गोपाल, केशव, द्वारकेश या द्वारकाधीश, वासुदेव आदि …

Read more

श्री सांपुटिक श्री सूक्त

साम्पुटिक श्रीसूक्त पाठ | सांपुटिक श्री सूक्त

साम्पुटिक श्रीसूक्त पाठ ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नमः |ॐ दुर्गे स्मृता हरसिभीतिमशेषजन्तोः स्वस्थैः स्मृता मतिमतीव शुभां …

Read more

कात्यायनी देवी आरती

मां कात्यायनी आरती | Katyayani Aarti

मां कात्यायनी आरती जय कात्यायनि माँ, मैया जय कात्यायनि माँ।उपमा रहित भवानी, दूँ किसकी उपमा ॥ मैया जय कात्यायनि ॥ गिरजापति शिव का तप, असुर …

Read more

Gita Chapter 18, भगवद गीता अध्याय 18

भगवद गीता अध्याय 18 | भगवद गीता चैप्टर 18

भगवद गीता अध्याय 18 अर्जुन उवाचसन्न्यासस्य महाबाहो तत्त्वमिच्छामि वेदितुम्‌ ।त्यागस्य च हृषीकेश पृथक्केशिनिषूदन ৷৷18.1৷৷ गीता श्लोक हिंदी अर्थ सहित : अर्जुन बोले- हे महाबाहो! हे …

Read more

भगवद गीता अध्यायः 17

भगवद गीता अध्यायः 17 | गीता श्लोक अर्थ चैप्टर 17

भगवद गीता अध्यायः 17 अर्जुन उवाचये शास्त्रविधिमुत्सृज्य यजन्ते श्रद्धयान्विताः।तेषां निष्ठा तु का कृष्ण सत्त्वमाहो रजस्तमः৷৷17.1৷৷ भावार्थ :अर्जुन बोले- हे कृष्ण! जो मनुष्य शास्त्र विधि को …

Read more

भगवद गीता अध्याय 16

भगवद गीता अध्याय 16 | गीता चैप्टर 16

भगवद गीता अध्याय 16 श्रीभगवानुवाचअभयं सत्त्वसंशुद्धिर्ज्ञानयोगव्यवस्थितिः।दानं दमश्च यज्ञश्च स्वाध्यायस्तप आर्जवम्‌॥16.1॥ भावार्थ : श्री भगवान बोले- भय का सर्वथा अभाव, अन्तःकरण की पूर्ण निर्मलता, तत्त्वज्ञान के …

Read more

भगवद गीता अध्याय 15

भगवद गीता अध्याय 15 | गीता चैप्टर 15

भगवद गीता अध्याय 15 श्रीभगवानुवाचऊर्ध्वमूलमधः शाखमश्वत्थं प्राहुरव्ययम्‌ ।छन्दांसि यस्य पर्णानि यस्तं वेद स वेदवित्‌ ৷৷15.1৷৷ गीता श्लोक अर्थ : श्री भगवान ने कहा – हे …

Read more