Shree Radha Aarti | श्री राधा आरती । आरती श्री वृषभानुसुता की ।

Radha ji ki Aarti – राधा आरती       आरती श्री वृषभानुसुता की, मंजुल मूर्ति मोहन ममता की।   त्रिविध तापयुत संसृति नाशिनि, विमल विवेकविराग विकासिनि।   पावन प्रभु पद प्रीति प्रकाशिनि, सुन्दरतम छवि सुन्दरता की।   । आरती श्री वृषभानुसुता की ।   मुनि मन मोहन मोहन मोहनि, मधुर मनोहर मूरति सोहनि।   अविरलप्रेम … Read more