Shree Ram Aarti – राम जी की आरती

श्री राम की आरती – Shree Ram Aarti in Hindi     श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन, हरण भवभय दारुणम्।   नव कंज लोचन, कंज मुख कर कंज पद कंजारुणम्॥   ॥श्री रामचन्द्र कृपालु..॥   कन्दर्प अगणित अमित छवि, नव नील नीरद सुन्दरम्।   पट पीत मानहुं तड़ित रूचि-शुचि नौमि जनक सुतावरम्॥   ॥श्री रामचन्द्र कृपालु..॥ … Read more