चामुण्डा देवी की चालीसा | Shri Chamunda Devi Chalisa | Chamunda Chalisa

 चामुण्डा देवी की चालीसा- Chamunda Devi Chalisa in Hindi     चामुण्डा देवी की चालीसा      दोहा नीलवरण माँ  कालिका रहती सदा प्रचंड । दस हाथो मई ससत्रा धार देती दुष्ट को दंड  ।।   मधु केटभ संहार कर करी धर्म की जीत । मेरी भी पीड़ा  हरो हो जो कर्म पुनीत  ।।   … Read more