माँ चंद्रघंटा देवी स्तोत्र || Chandraghanta Devi Stotram

माँ चंद्रघंटा देवी स्तोत्र || Maa Chandraghanta Devi Stotra !! ध्यान !!  वन्दे वाच्छित लाभाय चन्द्रर्घकृत शेखराम्। सिंहारूढा दशभुजां चन्द्रघण्टा यशंस्वनीम्॥ कंचनाभां मणिपुर स्थितां तृतीयं दुर्गा त्रिनेत्राम्। खड्ग, गदा, त्रिशूल, चापशंर पद्म कमण्डलु माला वराभीतकराम्॥ पटाम्बर परिधानां मृदुहास्यां नानालंकार भूषिताम्। मंजीर हार, केयूर, किंकिणि, रत्नकुण्डल मण्डिताम्॥ प्रफुल्ल वंदना बिबाधारा कांत कपोलां तुग कुचाम्। कमनीयां लावाण्यां … Read more

माता चंद्रघंटा देवी कवच || Mata Chandraghanta Devi Kavach

माता चंद्रघंटा देवी कवच || Mata Chandraghanta Devi Kavach ॥ कवच ॥ रहस्यं श्रणु वक्ष्यामि शैवेशी कमलानने। श्री चन्द्रघण्टास्य कवचं सर्वसिद्धि दायकम्॥ बिना न्यासं बिना विनियोगं बिना शापोद्धारं बिना होमं। स्नान शौचादिकं नास्ति श्रद्धामात्रेण सिद्धिकम॥ कुशिष्याम कुटिलाय वंचकाय निन्दकाय च। न दातव्यं न दातव्यं न दातव्यं कदाचितम्॥ Maa Chandraghanta Kavach Read also: श्री दत्तात्रेय वज्र … Read more