गोरा रानी सावन का मेरे रंग चड गया -gora rani sawan ka mere rang chad geya

मेरी जान मरन में आ रही से कैसा लोग नशेडी गल पड़ गया यु न बोले गोरा रानी सावन का मेरे रंग चड गया लादे घोटा भर ला लोटा प्यास बुजा दे भोले की पीवन की तेरी लिमत रही न बात यही से रोले की थोड़े में तेरा काम न चले पार भोले तू लिमट … Read more