माँ षोडशी त्रिपुर सुन्दरी कवच || Mata Shodashi Tripura Sundari Kavach

माँ षोडशी त्रिपुर सुन्दरी कवच || Mata Shodashi Tripura Sundari Kavach ॐ पूर्वे मां भैरवी पातु बाला मां पातु दक्षिणे । मालिनी पश्चिमे पातु त्रासिनी उत्तरेऽवतु ।। ऊधर्व पातु महादेवी महात्रिपुरसुन्दरी । अधस्तात् पातु देवेशी पातालतलवासिनी ।। आधारे वाग्भव: पातु कामराजस्तथा हदि । डामर: पातु मां नित्यं मस्तके सर्वकामद: ।। ब्रह्मरन्ध्रे सर्वगात्रे छिद्रस्थाने च सर्वदा … Read more

माँ मातंगी कवच || Maa Matangi Kavacham

माँ मातंगी कवच || Maa Matangi Kavacham श्री देव्युवाच साधु-साधु महादेव। कथयस्व सुरेश्वर। मातंगी-कवचं दिव्यं, सर्व-सिद्धि-करं नृणाम् ॥ श्री ईश्वर उवाच श्रृणु देवि। प्रवक्ष्यामि, मातंगी-कवचं शुभं। गोपनीयं महा-देवि। मौनी जापं समाचरेत् ॥ विनियोग – ॐ अस्य श्रीमातंगी-कवचस्य श्री दक्षिणा-मूर्तिः ऋषिः । विराट् छन्दः । श्रीमातंगी देवता । चतुर्वर्ग-सिद्धये जपे विनियोगः । ऋष्यादि-न्यास श्री दक्षिणा-मूर्तिः ऋषये … Read more

माँ तारा कवच – Mata Tara Kavacham

माँ तारा कवच – Maa Tara Kavacham ॐ कारो मे शिर: पातु ब्रह्मारूपा महेश्वरी । ह्रींकार: पातु ललाटे बीजरूपा महेश्वरी ।। स्त्रीन्कार: पातु वदने लज्जारूपा महेश्वरी । हुन्कार: पातु ह्रदये भवानीशक्तिरूपधृक् । फट्कार: पातु सर्वांगे सर्वसिद्धिफलप्रदा । नीला मां पातु देवेशी गंडयुग्मे भयावहा । लम्बोदरी सदा पातु कर्णयुग्मं भयावहा ।। व्याघ्रचर्मावृत्तकटि: पातु देवी शिवप्रिया । … Read more

Bhairav ji ki Aarti -भैरव जी की आरती

भैरव जी की आरती- Bhairav Aarti जय भैरव देवा ,प्रभु जय भैरव देवा । जय काली और गौरा देवी कृत सेवा ।। जय भैरव देवा ,प्रभु जय भैरव देवा ……. तुम्ही पाप उद्धारक दुःख सिंधु तारक । भक्तों के सुख कारक विषन बपुधारक ।।  जय भैरव देवा ,प्रभु जय भैरव देवा ……. वाहन शवान विराजत … Read more

Shree Krishna Chandra ji ki Aarti – श्री कृष्ण चंद्र जी की आरती

श्री कृष्ण चंद्र जी की आरती -Shree Krishan Chandra ji ki Aarti । आरती युगल किशोर की कीजै । राधे तन- मन- धन न्यौशाबार कीजै रवि शशि कोटी बदन की शोभा  ताहि निरख मेरो मन लोभा  । आरती युगल किशोर की कीजै…….. । गौर श्याम मुख निरखत रीजै प्रभु को रूट नयन भर पीजै  । … Read more

Shree Ram Chandra ji ki Aarti – श्री राम चंद्र जी की आरती

श्री राम चंद्र जी की आरती – Shree Ram Chandra ji Ki Aarti आरती कीजै रामचंद्र जी की । हरि हरि दुष्ट दलन सीतापति जी की ।।      पहली आरती पुष्पन की माला ।  काली नागनाथ लाए गोपाला ।। दूसरी आरती देवकी नंदन । भक्त उभारण कंस निकंदन ।। तीसरी आरती त्रिभुवन मन मोहे … Read more

जय शिवशंकर : भोले बाबा की सुंदर स्तुति – Shiv Stuti in Hindi

Shiv Stuti in Hindi शिव स्तुति  जय शिवशंकर, जय गंगाधर, करुणा-कर करतार हरे, जय कैलाशी, जय अविनाशी, सुखराशि, सुख-सार हरे जय शशि-शेखर, जय डमरू-धर जय-जय प्रेमागार हरे, जय त्रिपुरारी, जय मदहारी, अमित अनन्त अपार हरे, निर्गुण जय जय, सगुण अनामय, निराकार साकार हरे। पार्वती पति हर-हर शम्भो, पाहि पाहि दातार हरे॥ जय रामेश्वर, जय नागेश्वर … Read more

बसंत पंचमी इसी दिन मां सरस्वती ने प्रकट होकर धरती को प्रदान किया था अनुपन सौंदर्य- Basant Panchami

Vasant Panchami- Saraswati Puja हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, बसंत पंचमी का त्योहार माघ मास शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है ।  माना जाता है कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने से विद्यार्थियों को बुद्धि और विद्या का वरदान प्राप्त होता है।  बसंत पंचमी के त्योहार पर लोग पीले वस्त्र … Read more

कथा राम भक्त हनुमान की – Katha Ram Bhakt Hanuman Ki

कथा राम भक्त हनुमान की –  Katha Ram Bhakt Hanuman Ki  इतना सुंदर कथा का चित्रण किया गया है, लगता है सारे दृश्य आँखो के सामने ही चल रहा है। जय सीताराम जय बजरंग बली।               पुराणों में इस कथा का उल्लेख है कि अश्वमेघ यज्ञ के पूर्ण होने … Read more

आशुतोष शशाँक शेखर शिव स्तुति – Shiv Stuti in Hindi

आशुतोष शशाँक शेखर शिव स्तुति – Shiv Stuti in Hindi ॐ नमः शिवाय इसके अलावा भी शिव जी को प्रिय है              आशुतोष सशाँक शेखर चन्द्र मौली चिदंबरा, कोटि कोटि प्रणाम शम्भू कोटि नमन दिगम्बरा, निर्विकार ओमकार अविनाशी तुम्ही देवाधि देव , जगत सर्जक प्रलय करता शिवम सत्यम सुंदरा , … Read more