श्री राधा कृष्णाष्टकम् || Shri RadhaKrishna Ashtakam

श्री राधा कृष्णाष्टकम् || Shri Radhakrishna Ashtakam || Radha Krishna Ashtakam ॥ श्रीराधाकृष्णाष्टकम् ॥ यः श्रीगोवर्धनाद्रिं सकलसुरपतिं त्रस्तगोगोपवृन्दं, स्वीयं संरक्षितञ्चेत्यमरसुखकरं मोहयन् सन्दधार । तन्मानं खण्डयित्वा विजितरिपुकुलो नीलधाराधराभः, कृष्णो राधासमेतो विलसतु हृदये सोऽस्मदीये सदैव ॥ १॥ यं दृष्ट्वा कंसभूपः स्वकृतकृतिमहो संस्मरन्मन्त्रिवर्यान्, किं वा पूर्वं मयेदं कृतमिति वचनं दुःखितः प्रत्युवाच । आज्ञप्तो नारदेन स्मितयुतवदनः पूरयन्सर्वकामान्, कृष्णो राधासमेतो … Read more

राधे कृष्णा की अलौकिक प्रेम कहानी – Radha Krishna love story

राधे कृष्णा की  प्रेम कहानी – RadhaKrishn ki Prem Kahani    “राधा” के सच्चे प्रेम का यह ईनाम हैं,     कान्हा से पहले लोग लेते “राधा” का नाम हैं.       देवी राधा को पुराणों में श्री कृष्ण की शश्वत जीवनसंगिनी बताया गया है। ब्रह्मवैवर्त पुराण में बताया गया है कि राधा और … Read more