ब्रह्मा कृत सरस्वती स्तोत्र | Brahma Kruta Saraswati Stotram

ब्रह्मा कृत सरस्वती स्तोत्र || Brahma Kruta Saraswati Stotram || Saraswati Stotram   ऊँ अस्य श्रीसरस्वतीस्तोत्रमन्त्रस्य ब्रह्मा ऋषिः।   गायत्री छन्दः।   श्रीसरस्वती देवता।   धर्मार्थकाममोक्षार्थे जपे विनियोगः   आरूढा श्वेतहंसे भ्रमति च गगने दक्षिणे चाक्षसूत्रं,   वामे हस्ते च दिव्याम्बरकनकमयं पुस्तकं ज्ञानगम्या।     सा वीणां वादयन्ती स्वकरकरजपैः शास्त्रविज्ञानशब्दैः,   क्रीडन्ती दिव्यरूपा करकमलधरा भारती … Read more

श्री सरस्वती स्तोत्र | Saraswati Stotra | Maa Saraswati Stotram

श्री सरस्वती स्तोत्र  || Saraswati Stotra श्वेतपद्मासना देवी श्वेतपुष्पोपशोभिता।   श्वेताम्बरधरा नित्या श्वेतगन्धानुलेपना॥१॥     श्वेताक्षसूत्रहस्ता च श्वेतचन्दनचर्चिता।   श्वेतवीणाधरा शुभ्रा श्वेतालङ्कारभूषिता ॥२॥     वन्दिता सिद्धगन्धर्वैरर्चिता सुरदानवैः।   पूजिता मुनिभिस्सर्वैः ऋषिभिः स्तूयते सदा॥३॥     स्तोत्रेणानेन तां देवीं जगद्धात्रीं सरस्वतीम्।   ये स्मरन्ति त्रिसन्ध्यायां सर्वां विद्यां लभन्ति ते ॥४॥   Maa Saraswati Stotra  

श्री सरस्वती अष्टकम || Saraswati Ashtak

श्री सरस्वती अष्टकम  || Saraswati Ashtak अम्ब, थ्वदेय पद पङ्कज पांसु लेस, संबन्द बन्दुरथरा रसना थ्वधीयम् । संभयुधधिपदमप्य अम्रुथथि रम्यं, निम्भयथे किमुथ भोउम पदानि थस्य ॥१॥ मथ, स्थ्वधेय करुनंरुथ पूर्ण दृष्टि, अथक्वचिद्विधि वसन मनुजे न चेतः स्यतः । का थस्य घोर अपि धभ्यवाःअरनिध्र, भीथ्यधिकेषु समा भवमुपेयिवल्सु ॥२॥ वनि रेम गिरि सुथेथि च रूप भेदि, क्षोणी … Read more

बसंत पंचमी इसी दिन मां सरस्वती ने प्रकट होकर धरती को प्रदान किया था अनुपन सौंदर्य- Basant Panchami

Vasant Panchami- Saraswati Puja हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, बसंत पंचमी का त्योहार माघ मास शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है ।  माना जाता है कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने से विद्यार्थियों को बुद्धि और विद्या का वरदान प्राप्त होता है।  बसंत पंचमी के त्योहार पर लोग पीले वस्त्र … Read more