श्री तुलसी शतनाम स्तोत्रम || Tulsi Ashtottara Shatanama Stotram

तुलसी पावनी पूज्या वृन्दावननिवासिनी ! ज्ञानदात्री ज्ञानमयी निर्मला सर्वपूजिता ॥1॥ सती पतिव्रता वृन्दा क्षीराब्धिमथनोद्भवा ! कृष्णवर्णा रोगहन्त्री त्रिवर्णा सर्वकामदा ॥2॥ लक्ष्मीसखी नित्यशुद्धा सुदती भूमिपावनी ! हरिध्यानैकनिरता हरिपादकृतालया ॥3॥ पवित्ररूपिणी धन्या सुगन्धिन्यमृतोद्भवा ! सुरूपारोग्यदा तुष्टा शक्तित्रितयरूपिणी  ॥4॥ देवी देवर्षिसंस्तुत्या कान्ता विष्णुमनःप्रिया ! भूतवेतालभीतिघ्नी महापातकनाशिनी ॥5॥ मनोरथप्रदा मेधा कान्तिर्विजयदायिनी ! शंखचक्रगदापद्मधारिणी कामरूपिणी ॥6॥ अपवर्गप्रदा श्यामा कृशमध्या सुकेशिनी … Read more