व्यापार वृद्धि लक्ष्मी साधना 

जय जय जय लक्ष्मी भंडारी माई ।
 
सात दीप नव खंड दुहाई ।।
 
रिद्धि-सिद्धि के गुण लाई ।
 
 
त्युं कार्य करावे ओं ठ ओं ।।
 
ला व्यापार करावे ज्यूं चहु।।
 
त्युं कार्य करावे ओं ठ ओं ।।
 
Vyapar Vridhi Lakshmi Sadhana व्यापार वृद्धि लक्ष्मी साधना
 

 

Leave a comment