Annapurna Maa ki Aarti|श्री माँ अन्नपूर्णा आरती

Annapurna Mata ki Aarti –  माँ अन्नपूर्णा जी की आरती     आरती देवी अन्नपूर्णा जी की बारम्बार प्रणाम, मैया बारम्बार प्रणाम।   जो नहीं ध्यावै तुम्हें अम्बिके, कहां उसे विश्राम।   अन्नपूर्णा देवी नाम तिहारो, लेत होत सब काम॥   ॥ बारम्बार प्रणाम ॥   प्रलय युगान्तर और जन्मान्तर, कालान्तर तक नाम। सुर सुरों की … Read more

Shri Annapurna Chalisa |श्री अन्नपूर्णा चालीसा

Shri Annapurna Chalisa -श्री अन्नपूर्णा चालीसा   ॥ दोहा॥   विश्वेश्वर पदपदम की रज निज शीश लगाय । अन्नपूर्णे, तव सुयश बरनौं कवि मतिलाय ।   ॥ चौपाई ॥   नित्य आनंद करिणी माता, वर अरु अभय भाव प्रख्याता । जय ! सौंदर्य सिंधु जग जननी, अखिल पाप हर भव-भय-हरनी । श्वेत बदन पर श्वेत … Read more