krishnajjjj महाभारत में श्रीकृष्ण ने बताया था कलियुग का हाल

महाभारत में श्रीकृष्ण ने बताया था कलियुग का हाल

महाभारत में श्रीकृष्ण ने बताया था कलियुग का हाल महाभारत के समय पांचों पाण्डवों ने भगवान श्रीकृष्ण से कलियुग के बारे बारे में विस्तार से …

Read more

हरे कृष्ण हरे कृष्ण , कृष्ण कृष्ण हरे हरे | हरे राम हरे राम, राम राम हरे हरे ||

हरे कृष्ण महामंत्र | Hare Krishna Hare Ram Mantra

हरे कृष्ण महामंत्र हरे कृष्ण हरे राम महा मंत्र तीन संस्कृत शब्दों से बना है, जो “हरे”, “कृष्ण” और “राम” हैं। शास्त्रों के अनुसार “जो …

Read more

govind damodar stotram lyrics

गोविन्द दामोदर स्तोत्र | Govind Damodar Stotra

गोविन्द दामोदर स्तोत्र करार विन्दे न पदार विन्दम् ,मुखार विन्दे विनिवेश यन्तम् ।वटस्य पत्रस्य पुटे शयानम् ,बालम् मुकुंदम् मनसा स्मरामि ॥ १ ॥ वट वृक्ष …

Read more

श्री कृष्ण का जीवन परिचय | Shri Krishan katha

श्री कृष्ण का जीवन परिचय | Shri Krishan katha

श्री कृष्ण हिंदू धर्म में भगवान हैं। उन्हें विष्णु का 8वां अवतार माना जाता है। उन्हें कन्हैया, श्याम, गोपाल, केशव, द्वारकेश या द्वारकाधीश, वासुदेव आदि …

Read more

Gita Chapter 18, भगवद गीता अध्याय 18

भगवद गीता अध्याय 18 | भगवद गीता चैप्टर 18

भगवद गीता अध्याय 18 अर्जुन उवाचसन्न्यासस्य महाबाहो तत्त्वमिच्छामि वेदितुम्‌ ।त्यागस्य च हृषीकेश पृथक्केशिनिषूदन ৷৷18.1৷৷ गीता श्लोक हिंदी अर्थ सहित : अर्जुन बोले- हे महाबाहो! हे …

Read more

भगवद गीता अध्यायः 17

भगवद गीता अध्यायः 17 | गीता श्लोक अर्थ चैप्टर 17

भगवद गीता अध्यायः 17 अर्जुन उवाचये शास्त्रविधिमुत्सृज्य यजन्ते श्रद्धयान्विताः।तेषां निष्ठा तु का कृष्ण सत्त्वमाहो रजस्तमः৷৷17.1৷৷ भावार्थ :अर्जुन बोले- हे कृष्ण! जो मनुष्य शास्त्र विधि को …

Read more

भगवद गीता अध्याय 16

भगवद गीता अध्याय 16 | गीता चैप्टर 16

भगवद गीता अध्याय 16 श्रीभगवानुवाचअभयं सत्त्वसंशुद्धिर्ज्ञानयोगव्यवस्थितिः।दानं दमश्च यज्ञश्च स्वाध्यायस्तप आर्जवम्‌॥16.1॥ भावार्थ : श्री भगवान बोले- भय का सर्वथा अभाव, अन्तःकरण की पूर्ण निर्मलता, तत्त्वज्ञान के …

Read more

भगवद गीता अध्याय 15

भगवद गीता अध्याय 15 | गीता चैप्टर 15

भगवद गीता अध्याय 15 श्रीभगवानुवाचऊर्ध्वमूलमधः शाखमश्वत्थं प्राहुरव्ययम्‌ ।छन्दांसि यस्य पर्णानि यस्तं वेद स वेदवित्‌ ৷৷15.1৷৷ गीता श्लोक अर्थ : श्री भगवान ने कहा – हे …

Read more

भगवद गीता अध्याय 14

भगवद गीता अध्याय 14 | गीता के श्लोक चैप्टर 14

भगवद गीता अध्याय 14 श्रीभगवानुवाचपरं भूयः प्रवक्ष्यामि ज्ञानानं मानमुत्तमम्‌ ।यज्ज्ञात्वा मुनयः सर्वे परां सिद्धिमितो गताः ॥ (१) गीता श्लोक भावार्थ : श्री भगवान ने कहा …

Read more

भगवद गीता ज्ञानसहित क्षेत्र अध्यायः 13

भगवद गीता अध्यायः 13 ज्ञानसहित क्षेत्र | Geeta Chapter 13

भगवद गीता अध्यायः 13 ज्ञानसहित क्षेत्र अर्जुन उवाचप्रकृतिं पुरुषं चैव क्षेत्रं क्षेत्रज्ञमेव च ।एतद्वेदितुमिच्छामि ज्ञानं ज्ञेयं च केशव ৷৷13.1৷৷ भगवद गीता श्लोक भावार्थ : अर्जुन …

Read more

भगवद गीता अध्याय 11 : विराट रूप

भगवद गीता अध्याय 11 : विराट रूप | गीता ज्ञान

भगवद गीता अध्याय 11 : विराट रूप मदनुग्रहाय परमं गुह्यमध्यात्मसंज्ञितम् |यत्त्वयोक्तं वचस्तेन मोहोSयं विगतो मम || १ || गीता श्लोक का अर्थ : अर्जुन ने …

Read more

Bhagavad Gita Adhyay 10 Hindi English

भगवद गीता अध्याय 10 : श्रीभगवान् का ऐश्वर्य | गीता के श्लोक अर्थ सहित

भगवद गीता अध्याय 10 : श्रीभगवान् का ऐश्वर्य श्रीभगवानुवाचभूय एव महाबाहो शृणु मे परमं वचः |यत्तेSहं प्रीयमाणाय वक्ष्यामि हितकाम्यया || १ || गीता श्लोक का …

Read more

Bhagavad Gita Adhyay 8 Hindi English

भगवद गीता अध्याय 8 : भगवत्प्राप्ति | गीता ज्ञान

भगवद गीता अध्याय 8 : भगवत्प्राप्ति किं तद्ब्रह्म किमध्यात्मं किं कर्म पुरुषोत्तम |अधिभूतं च किं प्रोक्तमधिदैवं किमुच्यते || १ || श्लोक का अर्थ: अर्जुन ने …

Read more

Yugalashtkam

युगलाष्टकम कृष्ण प्रेम मयी राधा | Yugalashtkam

श्री युगलाष्टकम् कृष्ण प्रेममयी राधा कृष्ण प्रेम मयी राधा राधा प्रेम मयो हरिः ।जीवने निधने नित्यं, राधाकृष्णौ गतिर्मम ॥ 1 कृष्णस्य द्रविणं राधा राधायाः द्रविणं …

Read more