शिवरक्षा स्तोत्रम् || Shiva Raksha Stotram || Shiv Raksha Stotra

शिवरक्षा स्तोत्रम् || Shiv Raksha Stotra || Shiva Raksha Stotram चरितं देवदेवस्य महादेवस्य पावनम् । अपारं परमोदारं चतुर्वर्गस्यसाधनम् ॥ १ ॥ गौरीविनायकोपेतं पञ्चवक्त्रं त्रिनेत्रकम् । शिवं ध्यात्वा दशभुजं शिवरक्षांपठेन्नरः ॥ २ ॥ गंगाधरः शिरः पातु फालमर्धेन्दुशेखरः । नयने मदनध्वंसी कर्णौ सर्पविभूषणः ॥ ३ ॥ घ्राणं पातु पुरारातिः मुखं पातु जगत्पतिः । जिह्वां वागीश्वरः पातु कन्धरं … Read more

Amogh shiv kavach : शक्तिशाली अमोघ शिव कवच

Amogh shiv kavach : शक्तिशाली अमोघ शिव कवच   अमोघ शिव कवच बहुत की कल्याणकारी कवच है, इस कल्याणकारी एवं अति शीघ्र फल प्रदान करने वाले कवच  का कोई दूसरा सार ही नहीं है ।   किसी भी  प्रकार के शारीरिक ,मानसिक ,आर्थिक और  सामाजिक कष्टों से मुक्ति दिलाने में ये कवच अपना विशेष प्रभाव … Read more

“मैं तो वैरागी हूँ , न सम्मान का मोह , न अपमान का भय।”

“मैं तो वैरागी हूँ  , न सम्मान का मोह , न अपमान का भय।” मैं तो बैरागी हूँ न सन्मान का मोह न अपमान का भय ,जो मैं हूँ वो मैं नहीं हूँ ,और जो मैं नहीं हूँ वो ही मैं हूँ,मैं आदि हूँ मैं ही अनंत हूँ, जब तक तुम जीवित हो मैं तो … Read more