Krishna and Sudama Story || कृष्ण और सुदामा की कहानी

Krishna Sudama श्रीमद्भागवत महापुराण  के अनुसार- “राजा परीक्षित ने ब्राह्मणो से कहा- “श्री कृष्ण ! प्रेम और मोक्ष के दाता परब्रह्म परमात्मा भगवान  की शक्ति का कोई अंत नहीं है। इसलिये उनकी माधुर्य और ऐश्वर्य से भरी लीलाएँ भी अंतहीन हैं।    अब हम श्री कृष्ण की दूसरी लीलाएँ, जिनका वर्णन आपने अब तक नहीं … Read more

काल भैरव अष्टमी व्रत कथा || Kaal Bhairav Ashtami Vrat Katha

एक बार त्रिदेव, ब्रह्मा विष्णु एवम महेश तीनो में कौन श्रेष्ठ इस बात पर लड़ाई चल रही थी| इस बात पर बहस बढ़ती ही चली गई, जिसके बाद सभी देवी देवताओं को बुलाकर एक बैठक की गई| यहाँ सबसे यही पुछा गया कि कौन ज्यादा श्रेष्ठ है| सभी ने विचार विमर्श कर इस बात का … Read more

करवा चौथ व्रत कथा || Karwa Chauth Vrat Katha || Karwa Chauth Puja Vidhi

 करवा चौथ व्रत कथा || Karwa Chauth Vrat Katha || Karwa Chauth Vrat Kahani  करवा चौथ व्रत कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि के दिन किया जाता है ! एक परिवार में साथ भाई और एक बहिन थी  । सभी भाई अपनी बहन से बहुत प्यार करते थे और हमेशा इकट्ठे खाना खाते … Read more

शरद पूर्णिमा के व्रत का महत्व || Sharad Purnima ke Vrat Mahatva

  मान्यता है कि माता श्री लक्ष्मी जी का जन्म शरद पूर्णिमा के दिन हुआ था। इसलिए देश के कई शहरों में शरद पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना की जाती है   !  इस दिन मनुष्य सुबह जल्दी उठकर विधिपूर्वक स्नान करके उपवास रखे और जितेन्द्रिय भाव से रहे। मां लक्ष्मी की प्रतिमा … Read more

अमरनाथ धाम की शिव-पार्वती की अमर कथा – Amarnath Dham Katha

पवित्र अमरनाथ यात्रा की शिव-पार्वती कथा – Amarnath Katha अमरनाथ धाम की कथा कुछ इस प्रकार से है की एक बार  माता पार्वती ने महादेव से पूछा, ऐसा क्यों है कि आप अजर अमर हैं, लेकिन मुझे हर जन्म के बाद नए स्वरूप लेकर जीवन चक्र में आना पड़ता है, फिर  बरसों तप करके  आपको … Read more

कियूं और कैसे डूबी भगवान श्रीकृष्ण की द्वारिका ? Dwarka: Steeped in legends of Lord Krishna

 भगवान श्री कृष्ण के अपने धाम गमन करने के पश्चात उनके साथ ही उनके द्वारा बसायी गई द्वारका नगरी भी समुद्र में समा गई थी।  श्री कृष्ण की नगरी द्वारिका महाभारत युद्ध के 36 वर्ष पश्चात समुद्र में डूब जाती है। द्वारिका के समुद्र में डूबने से पूर्व श्री कृष्ण सहित सारे यदुवंशी भी मारे … Read more

बसंत पंचमी इसी दिन मां सरस्वती ने प्रकट होकर धरती को प्रदान किया था अनुपन सौंदर्य- Basant Panchami

Vasant Panchami- Saraswati Puja हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, बसंत पंचमी का त्योहार माघ मास शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है ।  माना जाता है कि बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने से विद्यार्थियों को बुद्धि और विद्या का वरदान प्राप्त होता है।  बसंत पंचमी के त्योहार पर लोग पीले वस्त्र … Read more

क्या होती है मौनी अमावस्या – Mauni Amavasya

क्या होती है मौनी अमावस्या – Mauni Amavasya kiyu manai jati hai मौनी अमावस्या का हिन्दू धर्म में विशेष महत्त्व है। माघ माह में कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मौनी अमावस्या कहते हैं।  इस दिन मौन रहना चाहिए। मुनि शब्द से ही ‘मौनी’ की उत्पत्ति हुई है। इसलिए इस व्रत को मौन धारण करके समापन … Read more

कथा राम भक्त हनुमान की – Katha Ram Bhakt Hanuman Ki

कथा राम भक्त हनुमान की –  Katha Ram Bhakt Hanuman Ki  इतना सुंदर कथा का चित्रण किया गया है, लगता है सारे दृश्य आँखो के सामने ही चल रहा है। जय सीताराम जय बजरंग बली।               पुराणों में इस कथा का उल्लेख है कि अश्वमेघ यज्ञ के पूर्ण होने … Read more

विदुर नीति: सफलता तक पहुंचने का जानें 4 आसान तरीका ! Vidhur Niti Mahabharat

महाभारत तो आपको याद ही होगा… यह एक ऐसी कथा थी, जिसके हर पात्र को लोग आज भी याद करते हैं। उन्हीं पात्रों में से एक पात्र थे महात्मा विदुर, जो हस्तिनापुर के प्रधानमंत्री थे। पौराणिक कथाओं की मानें तो विदुर का जन्म दासी के कोख से हुआ था, जिस कारण उन्हें राजा बनने का … Read more