Shankar Mahadev ji ki Aarti || शंकर महादेव जी की आरती

Mahadev ji ki Aarti – Har Har Mahadev  हर हर हर महादेव ! सत्य, सनातन, सुन्दर, शिव सबके स्वामी। अविकारी अविनाशी, अज अन्तर्यामी॥ हर हर हर महादेव ! आदि, अनन्त, अनामय, अकल, कलाधारी। अमल, अरूप, अगोचर, अविचल, अघहारी॥   हर हर हर महादेव ! ब्रह्मा, विष्णु, महेश्वर तुम त्रिमूर्तिधारी। कर्ता, भर्ता, धर्ता, तुम ही संहारी॥ … Read more

MahaShivRatri Images || Mahashivratri Quotes in Hindi || Shiv Ratri image

 Mahashivratri Status in Hindi भोले के लीला  में मुझे डूब जाने दो, शिव के चरणों में शीश झुकाने दो,आई है शिवरात्रि मेरे भोले बाबा का दिन, आज के दिन मुझे भोले के गीत गाने दो. !! Happy Mahashivratri शिव की महिमा अपरम्पार; शिव करते सबका उद्धार; उनकी कृपा आप पर सदा बनी रहे; और आपके जीवन में आयें … Read more

नटराज स्तुति ( शिव आनंद तांडव स्तोत्रम ) || Shree Natraj Stuti

नटराज शिव शंकर का एक नाम है इस  नाम से वह सबसे उत्तम नर्तक के रूप में जाने जाते हैं।  नटराज दो शब्दों के समावेश से बना है – नट (अर्थात कला) और राज । इस स्वरूप में शिव कालाओं के आधार हैं।  नटराज शिव का स्वरूप न सिर्फ उनके संपूर्ण काल एवं स्थान को ही दर्शाता है; … Read more

शिव जयजयकार ध्यान स्तोत्रम् || Shiva Jaya JaiKara Dhyana Stotram

शिव जयजयकार ध्यान स्तोत्रम् || Shiva Jaya Jaya Kara Dhyana Stotram स्फटिकप्रतिभटकान्त विरचितकलिमलशान्त । शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ १ ॥ गंगाधरपिंगलजट हृतशरणागतसङ्कट । शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ २ ॥ बालसुधाकरशेखर भाललसद्वैश्वानर । शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ ३ ॥ पद्मदलायतलोचन दृढभवबन्धनमोचन । शिव शंकर शिव शंकर जय … Read more

श्री शिव कैलाश अष्टोत्तर शतनामावली || Shiva Kailasa Ashtottara Shatanamavali

श्री शिव कैलाश अष्टोत्तर शतनामावली || Shri Shiva Kailasa Ashtottara Shatanamavali ॐ श्रीमहाकैलासशिखरनिलयाय नमोनमः । ॐ हिमाचलेन्द्रतनयावल्लभाय नमोनमः । ॐ वामभागकलत्रार्धशरीराय नमोनमः । ॐ विलसद्दिव्यकर्पूरदिव्याभाय नमोनमः । ॐ कोटिकन्दर्पसदृशलावण्याय नमोनमः ।  ॐ रत्नमौक्तिकवैडूर्यकिरीटाय नमोनमः । ॐ मंदाकिनीजलोपेतमूर्धजाय नमोनमः । ॐ चारुशीतांशुशकलशेखराय नमोनमः । ॐ त्रिपुण्ड्रभस्मविलसत्फालकाय नमोनमः । ॐ सोमपावकमार्ताण्डलोचनाय नमोनमः ।  ॐ वासुकीतक्षकलसत्कुण्डलाय नमोनमः । … Read more

रूद्र गायत्री मंत्र ||| Rudra Gayatri Mantra

ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्रः प्रचोदयात्॥ Aum Bhur Bhuvah Swaha Aum Tadpurushaaya Vidvamahe, Mahadevaaya Dheemahi Tanno Rudra Prachodayaat Meaning of Rudra Gayatri Mantra Aum. Let us invoke the three realms of earth (-bhur), wind (-bhuvah) and fire (-swaha).  Aum. Let us invoke the superlative (-tad) male (-purusha) and omniscient lord (-vidvamahe).  Let us meditate … Read more

लिंगाष्टकम || Lingashtakam

ब्रह्ममुरारिसुरार्चितलिङ्गम् निर्मलभासितशोभितलिङ्गम् । जन्मजदुःखविनाशकलिङ्गम् तत् प्रणमामि सदाशिवलिङ्गम् ॥१॥ देवमुनिप्रवरार्चितलिङ्गम् कामदहम् करुणाकरलिङ्गम् । रावणदर्पविनाशनलिङ्गम् तत् प्रणमामि सदाशिवलिङ्गम् ॥२॥ सर्वसुगन्धिसुलेपितलिङ्गम् बुद्धिविवर्धनकारणलिङ्गम् । सिद्धसुरासुरवन्दितलिङ्गम् तत् प्रणमामि सदाशिवलिङ्गम् ॥३॥ कनकमहामणिभूषितलिङ्गम् फणिपतिवेष्टितशोभितलिङ्गम् । दक्षसुयज्ञविनाशनलिङ्गम् तत् प्रणमामि सदाशिवलिङ्गम् ॥४॥ कुङ्कुमचन्दनलेपितलिङ्गम् पङ्कजहारसुशोभितलिङ्गम् । सञ्चितपापविनाशनलिङ्गम् तत् प्रणमामि सदाशिवलिङ्गम् ॥५॥ देवगणार्चितसेवितलिङ्गम् भावैर्भक्तिभिरेव च लिङ्गम् । दिनकरकोटिप्रभाकरलिङ्गम् तत् प्रणमामि सदाशिवलिङ्गम् ॥६॥ अष्टदलोपरिवेष्टितलिङ्गम् सर्वसमुद्भवकारणलिङ्गम् । अष्टदरिद्रविनाशितलिङ्गम् … Read more

बैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग – Vaidyanatha Jyotirlinga temple

बैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग – Baba Baidyanath Temple यह भगवान शिव के पवित्र 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। यह मंदिर भारत के झारखण्ड जिले के देवगढ़ में बना हुआ है।  शास्त्रों में भी यहां की महिमा का उल्लेख है। मान्यता है कि सतयुग में ही यहां का नामकरण हो गया था। स्वयं भगवान ब्रह्मा और बिष्णु ने … Read more

पट खोल मेरे बाबा- pat khol mere baba

पट खोल मेरे बाबा वो ओ डमरू वाले ओ डमरू वाले भगत जनों की भीड़ लगी है दर्श की दर पे आस जगी है हाल घड़ी अन्मोल अन्मोल मेरे बाबा डमरू वाले ओ डमरू वाले तू शिव शंकर महावरधानी दूजा नही कोई तेरा सानी आसन से तू डोल अब डोल मेरे बाबा डमरू वाले ओ … Read more

हम भक्त है महाकाल के- hum bhakat hai mahakaal Ke

कालो के भी काल के हम भक्त है महाकाल के, credit singer:-ranjeet raja भारत देश है हम को प्यारा रखेगे सम्बाल के हम भक्त है महाकाल के विष का प्याला पी कर के नील कंठ कहलाये भोले रख लपेटे मुर्दों की श्मशानो के स्वामी भोले रूप अनोखा भोले तेरा अधाम्भर को टाल के हम भक्त … Read more