शिव जय जयकार ध्यान स्तोत्रम् 

स्फटिकप्रतिभटकान्त विरचितकलिमलशान्त ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ १ ॥
 
गंगाधरपिंगलजट हृतशरणागतसङ्कट ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ २ ॥
 
 
बालसुधाकरशेखर भाललसद्वैश्वानर ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ ३ ॥
 
 
 
पद्मदलायतलोचन दृढभवबन्धनमोचन ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥४ ॥
 
 
मन्दमधुरहासवदन निर्जितदुर्लसितमदन ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ ५ ॥
 
 
सनकादिकवन्द्यचरण दुस्तरभवसिन्धुतरण ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ ६ ॥
 
 
लालितबालगजानन कलितमहापितृकानन ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ ७ ॥
 
 
 
सच्चिद्घनसुखसार लीलापीतमहागर ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ ८ ॥
 
 
गिरिजाश्लिष्टार्धतनो कल्पितगिरिराजधनो ।
 
शिव शंकर शिव शंकर जय कैलासपते ॥ ९ ॥
 
 
शिव जय जयकार ध्यान स्तोत्रम्

 


FAQs

  1. शिव जय जयकार ध्यान स्तोत्रम् का क्या लाभ होता है?

    शिव जय जयकार ध्यान स्तोत्रम् भगवान शिव को समर्पित है शिव पूजा करते वक़्त यह स्तोत्र पढ़ने से भगवान शिव खुश हो जाते है

  2. शिव जय जयकार ध्यान स्तोत्रम् कब करना चाहिए?

    शिव जय जयकार ध्यान स्तोत्रम् सोमवार के दिन शिव पूजा के बाद करना चाहिए


Leave a Comment

1 Shares
Share
Tweet
Share
Pin1