वास्तु दोष निवारण मन्त्र

Vastu Mantra (Vastu Purusha Mantra)

 
नमस्ते वास्तु पुरुषाय भूशय्या भिरत प्रभो |
 
मद्गृहं धन धान्यादि समृद्धं कुरु सर्वदा ||
 
Namaste Vaastu Purushaay Bhooshayyaa Bhirat Prabho |
 
Madgriham Dhan Dhaanyaadi Samriddham Kuru Sarvada ||

 

Vastu Dosha Nivaran Mantra

 
ॐ वास्तोष्पते प्रति जानीद्यस्मान स्वावेशो अनमी वो भवान यत्वे महे प्रतितन्नो जुषस्व शन्नो भव द्विपदे शं चतुष्प्दे स्वाहा |
 
Om Vaastoshpate Prati Jaanidyasmaan Swaawesho Anamee Vo Bhavaan Yatve Mahe Pratitanno Jushasva Sahnno Bhav Dvipade Sham Chatushpade Swaahaa |

 

Vastu Dosh Nivaran Mantra वास्तु दोष निवारण मन्त्र

 

 


वास्तु दोष निवारण मन्त्र के लाभ

  • वास्तु दोष निवारण मन्त्र का जाप करने से घर में किसी भी दिशा में वास्तु दोष हो तो उसका निवारण होता है
  • वास्तु दोष निवारण मन्त्र जपने से गृह कलेश से भी मुक्ति मिलती है
  • इस मंत्र का जाप करने से मनुष्य अगर किसी बीमारी से पीडित है तो उसकी बीमारी का अंत हो जाता है
  • इस मंत्र का जाप करने से धन संबधी परेशानी भी दूर होती है
  • घर का निर्माण करते हुए अगर गलत दिशा में कोई स्थान बना दिया जाये तो भी वास्तु दोष लग जाता है
  • वास्तु दोष निवारण मन्त्र का जाप करने से कलह कलेश से मुक्ति मिलती है

वास्तु दोष निवारण मन्त्र की विधि

  • अपने घर की अच्छे से साफ़ सफाई करे
  • कोई भी शुभ दिन देख कर इस मंत्र का जाप कर सकते है
  • इस मंत्र का जाप 108 बार करना चाहिए
  • घर माकन या दुकान कही भी इस मंत्र का जाप कर सकते है
  • अपने घर के मंदिर में बैठकर भी इस मंत्र का जाप कर सकते है

यह भी जरूर पढ़े:-


FAQ’S

  1. नए घर में प्रवेश करते समय किन बातों क्या ध्यान रखना चाहिए ?

    नए घर में प्रवेश करते समय शुभ दिन,शुभ तिथि का ध्यान रखना चाहिए

  2. गृह प्रवेश किस दिन करना शुभ माना जाता है?

    गृह प्रवेश पूरणमासी,एकादशी,नवरात्री,अमावस्या दिन भी किया जा सकता है


वास्तु दोष निवारण मन्त्र PDF


Leave a Comment

1 Shares
Share
Tweet
Share
Pin1