shivratri stuti शिवरात्रि स्तुति | Shivratri Stuti

शिवरात्रि स्तुति | Shivratri Stuti

शिवरात्रि स्तुति पशूनां पतिं पापनाशं परेशं गजेन्द्रस्य कृत्तिं वसानं वरेण्यम।जटाजूटमध्ये स्फुरद्गाङ्गवारिं महादेवमेकं स्मरामि स्मरारिम।1। महेशं सुरेशं सुरारातिनाशं विभुं विश्वनाथं विभूत्यङ्गभूषम्।विरूपाक्षमिन्द्वर्कवह्नित्रिनेत्रं सदानन्दमीडे प्रभुं पञ्चवक्त्रम्।2। गिरीशं गणेशं …

Read more

श्री वीरभद्र चालीसा veerbhadra chalisa

वीरभद्र चालीसा | Veerbhadra Chalisa

वीरभद्र चालीसा ॥ दोहा ॥ वन्दो वीरभद्र शरणों शीश नवाओ भ्रात ।ऊठकर ब्रह्ममुहुर्त शुभ कर लो प्रभात ॥ज्ञानहीन तनु जान के भजहौंह शिव कुमार ।ज्ञान …

Read more

अपमृत्युहरं महामृत्युञ्जय स्तोत्रम्

अपमृत्युहरं महामृत्युञ्जय स्तोत्रम् | Apamrutyuharam Mahamrutyunjjaya Stotram

अपमृत्युहरं महामृत्युञ्जय स्तोत्रम् औम् अस्य श्रीमहामृत्यञ्जयस्तोत्रमन्त्रस्य श्रीमार्कण्डेय ऋषिः,अनुष्टुप् छन्दः, श्रीमृत्युञ्जयो देवता, गौरी शक्तिः,मम सर्वारिष्टसमस्तमृत्युशान्त्यर्थं सकलैश्वर्यप्राप्त्यर्थंच जपे विनियोगः । अथ ध्यानम् ॥ चन्द्रार्काग्निविलोचनं स्मितमुखं पद्मद्वयान्तः स्थितंमुद्रापाशमॄगाक्षसत्रविलसत्पाणिं …

Read more

Srishiva Suvarnamala Stavah

श्रीशिव सुवर्णमाला स्तवः | Shiva Suvarnamala Stavah

श्रीशिव सुवर्णमाला स्तवः अनेककोटिब्रह्माण्डजननीनायकप्रभो ।अनेकप्रमुखस्कन्दपरिसेवित पाहि माम् ॥१॥ आकारापारनिर्व्याजकरुणायाः सतीपते ।आशाभिपूरकानम्रविततेः पाहि शङ्कर ॥२॥ इभाश्वमुखसंपत्तिदानदक्षकृपालव ।इष्टप्रालेयशैलेन्द्रपुत्र्याः पाहि गिरीश माम् ॥३॥ ईहाशून्यजनावाप्य नतानन्दाब्धिचन्द्रमः ।ईशान सर्वविद्यानामिन्दुचूड सदाऽव …

Read more

shiv pradosh stotram

शिव प्रदोष स्तोत्रम् | Shiva Pradosh Stotra

शिव प्रदोष स्तोत्रम् जय देव जगन्नाथ जय शङ्कर शाश्वत ।जय सर्वसुराध्यक्ष जय सर्वसुरार्चित ॥१॥ जय सर्वगुणातीत जय सर्ववरप्रद ॥जय नित्य निराधार जय विश्वम्भराव्यय ॥२॥ जय …

Read more

maha rudra stotra, shiv stotra

महारुद्र स्तोत्रम् | Maha Rudra Stotra

महारुद्र स्तोत्रम् वाण्या ओङ्काररूपिण्या अंत उक्तोऽस्य नान्यथा ।सुरस्रिभुवनेशः स नः सर्वांतः स्थितोऽवतु ॥१॥ देवोऽयं सर्वदेवायः सूरिरुन्मत्तवत्स्थितः ।वाहो बलीवर्दकोऽस्य याचकस्येष्टदः स तु ॥२॥ नंदिस्कंधाधिरूढोऽपि त्रिप्रमित्यतिगः स्वभूः …

Read more

Shri Kashivishvanatha Stotram

श्री काशी विश्वनाथ स्तोत्रम् | श्रीकाशीविश्वनाथस्तोत्रम्

श्री काशी विश्वनाथ स्तोत्रम् ॥ कण्ठे यस्य लसत्कराळगरळं गङ्गाजलं मस्तकेवामाङ्गे गिरिराजराजतनया जाया भवानी सती ।नन्दिस्कन्दगणाधिराजसहिता श्रीविश्वनाथप्रभुःकाशीमन्दिरसंस्थितोऽखिलगुरुर्देयात्सदा मङ्गळम् ॥१॥ यो देवैरसुरैर्मुनीन्द्रतनयैर्गन्धर्वयक्षोरगै-र्नागर्भूतलवासिभिर्द्विजवरैः संसेवितः सिद्धये ।या गङ्गोत्तरवाहिनी परिसरे …

Read more

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग

घृष्णेश्वर मंदिर | घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग

घृष्णेश्वर मंदिर, जिसे घृणेश्वर या घुश्मेश्वर मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, शिव पुराण में वर्णित भगवान शिव के मंदिरों में से एक …

Read more

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग

ओंकारेश्वर मंदिर मंधाता मध्य प्रदेश

ओंकारेश्वर मंदिर मध्य प्रदेश राज्य में इंदौर के पास स्थित है। ओंकारेश्वर नाम “ओम” शब्द से आया है। भक्तों का मानना है कि ओंकारेश्वर मंदिर …

Read more

mallikarjuna jyotirlinga

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग | Mallikarjuna jyotirlinga Srisailam Andhra Pradesh

आंध्र प्रदेश के कुरनूल जिले का एक पहाड़ी शहर श्रीशैलम में पवित्र मलिकार्जुन ज्योतिर्लिंग मंदिर है और देवी पार्वती के अठारह शक्ति पीठों में से …

Read more

kashi vishwanath temple history iin hindi

काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी

काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी में पवित्र गंगा नदी के पश्चिमी तट पर स्थित है, काशी विश्वनाथ मंदिर भगवान शिव को समर्पित 12 ज्योतिर्लिंगों मंदिरों में …

Read more

भगवान शिव प्रदोष स्तोत्र दुर्भाग्य व दरिद्रता नाशक है

भगवान शिव प्रदोष स्तोत्र दुर्भाग्य व दरिद्रता नाशक है

दरिद्रता और ऋण मनुष्य के जीवन में सबसे ज़्यादा असंतुष्टि पैदा करता है | सारा जीवन अस्थिर दिखाई देता है पर भगवान शिव का दरिद्रता …

Read more